Month: August 2018

हज़ारी प्रसाद द्विवेदी महत्वपूर्ण कथन

आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदीः कुछ सूत्र. – 1. आध्यात्मिक ऊँचाई तक समाज के बहुत थोड़े लोग ही पहुँच सकते हैं। बाकी लोग छोटे-मोटे दुनियावी टंटों में उलझे रह जाते हैं। वे आध्यात्मिक आदर्श को विकृत कर देते हैं। 2. आम्रमंजरी मदन देवता का अमोघ बाण है। 3. आसमान में निरन्तर मुक्का मारने में कम परिश्रम […]

मलिक मुहम्मद जायसी

 मलिक मुहम्मद जायसी जीवन परिचय  मलिक मुहम्मद जायसी जायसी  कृत ’पद्मावत’ में कुल 57 खण्ड है और इनका प्रिय अलंकार ’उत्प्रेक्षा ’ है। मलिक मुहम्मद जायसी ने अपने पूर्व लिखे गये चार प्रेमाख्यानकों का उल्लेख किया है – 1 मधुमालती, 2 मृगावती 3 मुग्धावती और 4 प्रेमावती। जायसी  अमेठी के निकट जायस में रहते थे। […]

error: कॉपी करना मना है