विद्यानिवास मिश्र जीवन -परिचय

विद्यानिवास मिश्र


जन्म -28 जनवरी, 1926
जन्म भूमि- गोरखपुर, उत्तर प्रदेश
मृत्यु -14 फ़रवरी, 2005
कर्म भूमि- भारत
कर्म-क्षेत्र – निबन्ध लेखन।
भाषा -हिन्दी
विद्यालय -‘इलाहाबाद विश्वविद्यालय’

प्रसिद्धि – ललित निबन्ध लेखक।

विशेष योगदान-

विद्यानिवास हिन्दी की प्रतिष्ठा हेतु सदैव संघर्षरत रहे, मॉरीशस से सूरीनाम तक अनेकों हिन्दी सम्मेलनों में मिश्र जी की उपस्थिति ने हिन्दी के संघर्ष को मजबूती प्रदान की।

रचनाएं:-

निबंध:-

छितवन की छांह-1953
कदम की फूली डाल-1956
तुम चंदन हम पानी-1957
आंगन का पंछी और बंजारा मन-1963
मैंने सिल पहुंचाई-1966
वसंत आ गया पर कोई उत्कंठा नहीं -1972
मेरे राम का मुकुट भीग रहा है-1974
परंपरा बंधन नहीं -1976
कंटीले तारों के आर पार-1976
कौन तू फुलवा बीनन हारी-1980
निज सुख मुकुर-1981
भ्रमरानंद के पत्र -1981


तमाल के झरोखे से-1981
अस्मिता के लिए-1981
संचारिणी-1982
अंगद की नियति-1984
लागौ रंग हरी -1985
गाँव का मन-1985
नैरंतर्य और चुनौती-1988
भाव पुरुष श्रीकृष्ण -1990
महाभारत का काव्यार्थ
अग्निरथ
जीवन अलभ्य है जीवन सौभाग्य हैं-1991
देश,धर्म और साहित्य-1992
नदी,नारी और संस्कृति-1993
फागुन दुई रे दुना-1994
बूंद मिले सागर में-1994
पींपल के बहाने-1994
शिरीष की याद आयी-1995
गिर रहा है आज पानी-2001
स्वरूप विमर्श -2001
बाँधी का करुण रस-2002

आलोचना:-

रीति विज्ञान
हिंदी शब्द संपदा
साहित्य की चेतना

संस्मरण:-

चिड़िया रैन बसेरा-2002

सम्मान/पुरस्कार:-

मूर्ति देवी पुरस्कार-1987
पद्म श्री -1988
विश्व भारती सम्मान-1996
साहित्य अकादमी का महत्तर सदस्यता सम्मान-1996
भारत भारती सम्मान-1997
पद्मभूषण-1998
मंगला प्रसाद पारितोषिक-2001
हेडगेवार प्रज्ञा पुरस्कार

विशेष:-

  • विद्यानिवास मिश्र ने कुछ वर्ष ‘नवभारत टाइम्स’ समाचार पत्र के संपादक का दायित्व भी संभाला।
  • ‘पद्म भूषण’ विद्यानिवास मिश्र राज्यसभा सांसद के रूप में कार्य करते हुए 14 फ़रवरी, 2005 को एक सड़क दुर्घटना के कारण लगभग अस्सी वर्ष की उम्र में दिवंगत हुए।
  • धन्यवाद दोस्तों आज की यह पोस्ट आपको कैसी लगी अपनी प्रतिक्रिया जरुर देवें

(Visited 12 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: कॉपी करना मना है