राजस्थान में 1857 क्रांति प्रश्नोतर

↕↕↕↕↕↕↕↕↕ RAJASTHAN मेँ 1857 कि क्रांति=> 1. 1857 की क्रांति के समय राजस्थान मेँ 6 सैनिक छावनियां थी वे इस प्रकार 1. नसीराबाद, अजमेर 2. ब्यावर, अजमेर 3. नीमच वर्तमान मेँ MP 4. देवली, टोँक 5. एरिनपुरा, पाली 6. खैरवाड़ा, उदयपुर | 2. 1857 की क्रांति की माता सुगाली देवी Read more…

सुमित्रानंदन पंत कृतित्व

$$ सुमित्रानंदन पंत $$ @@पंत की पुण्य तिथि पर उनको शत् शत् नमन @ अन्य नाम – गुसाईं दत्त जन्म- 20 मई 1900 जन्म भूमि- कौसानी, उत्तराखण्ड, भारत मृत्यु -28 दिसंबर, 1977 मृत्यु स्थान -इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश, भारत कर्म भूमि- इलाहाबाद कर्म-क्षेत्र – अध्यापक, लेखक, कवि विषय- गीत, कविताएँ भाषा Read more…

व्यक्तित्व और परिभाषा सिद्धान्त

*******व्यक्तित्व और परिभाषा सिद्धान्त ************ दोस्तों आज हम आज की पोस्ट में व्यक्तितव और परिभाषा सिद्धांत के बारे में जानेंगे *व्यक्तित्व अर्थ व परिभाषा* ‘व्यक्तित्व’ अंग्रेजी के पर्सनेल्टी (Personality) का पर्याय है। पर्सनेल्टी शब्द की उत्पत्ति यूनानी भाषा के ‘पर्सोना’ शब्द से हुई है, जिसका अर्थ है ‘मुखोटा (Mask)’ ।उस Read more…

अभिप्रेरणा ओर अभिप्रेरक

निम्नलिखित में से कौनसा कारक गणित विषय मे प्रतिभाशाली विद्यार्थी को प्रभावित करता है1 बाह्य अभिप्रेरणा2 समायोजन का स्तर3 दृढ़ता✅4 सहोदर प्रतिद्वंद्विता2 अभिप्रेरणा का स्तर है1 उच्च जब कार्य कठिन हो ।✅2 उच्च जब कार्य सामान्य प्रकृति का हो ।3 निम्न जब कार्य कठिन हो ।4 निम्न जब कार्य रुचिकर Read more…

मनोविज्ञान की परिभाषाएं

मनोविज्ञान की परिभाषायें    मनोविज्ञान की परिभाषाएं********* ०👑1. वाटसन के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार का निश्चित या शुद्ध विज्ञान है।” ०👑2. वुडवर्थ के अनुसार, “ मनोविज्ञान, वातावरण के सम्पर्क में होने वाले मानव व्यवहारों का विज्ञान है।” ०👑3. मैक्डूगल के अनुसार, “ मनोविज्ञान, आचरण एवं व्यवहार का यथार्थ विज्ञान है।” Read more…

उपन्यास महत्वपूर्ण तथ्य

उपन्यास महत्वपूर्ण तथ्य *अमृतलाल नागर के उपन्यास* 1-महाकाल (1947) बंगाल के अकाल की त्रासदी पर आधारित 2-सेठ बाँकेलाल (1955) 3-बूंद और समुद्र (1956) 4-शतरंज के मोहरे (1959) 5-सुहाग के नूपुर (1960) 6-अमृत और विष (1966) 7-सात घूँघट वाला मुखड़ा (1968) 8-एकदा नैमिषारण्ये (1972) 9-मानस का हंस(1972) 10-नाच्यौ बहुत गोपाल (1978) Read more…

बाल्यावस्था महत्वपूर्ण कथन

*💥 बाल्यावस्था :-(6-12* *वर्ष) 💥* *♦कोल एवं ब्रुस-* *बाल्यावस्था* *को जीवन का अनोखा काल कहा है”* *♦रॉस – “बाल्यावस्था को मिथ्या या छदम परिपक्वता का काल कहा है !”* *♦ब्लेयर, जोन्स एवं सिम्पसन- “शैक्षिक दृष्टिकोण से बाल्यावस्था से अधिक जीवन मे कोई महत्वपूर्ण अवस्था नही है “* *♦स्ट्रैंग- “बालक अपने Read more…

error: कॉपी करना मना है