संज्ञा व उसके भेद

संज्ञा दोस्तो आज की पोस्ट मे हम आपको संज्ञा के बारे मे विस्तार से बताने जा रहें है ,हम उम्मीद करते है कि आप  इसे अच्छे से समझ पाएंगे  संज्ञा किसे कहते है ? @ संज्ञा  की परिभाषा  ’संज्ञा’ उस विकारी शब्द को कहते हैं, जिससे किसी विशेष वस्तु, भाव Read more…

विलोम शब्द vilom shbad

विलोम शब्द

दोस्तो आज हम महत्वपूर्ण विलोम शब्दों को जानेंगे निम्नलिखित शब्द विपरीतार्थक है, क्योंकि ये अपने सामनेवाले शब्द के सर्वदा विपरीत अर्थ प्रकट करते हैं। यहाँ ध्यान देने की बात यह है कि संज्ञाशब्द का विपरीतार्थक संज्ञा हो और विशेषण का विपरीतार्थक विशेंषण। शब्द – विपरीतार्थक शब्द अनाथ -सनाथअवनति –उन्नतिअंतरंग —बहिरंगअल्पज्ञ Read more…

विराम चिह्न क्या है

दोस्तों आज के टॉपिक में हम आपके लिए लाए हैं एक बेहतर जानकारी ,आज हम विराम चिह्न बारे में विस्तार से जानेंगे हिंदी में विराम चिह्न का प्रयोग कब और कहां किया जाता है इसके बारे में उदाहरणों के माध्यम से जानेंगे। विराम शब्द का अर्थ है ठहराव या रुक Read more…

शब्द_युग्म_समानार्थी_शब्द

शब्द-युग्म Shabd Yugm

शब्द-युग्म अग – सर्प/पर्वत अघ – पाप अनल – आग अनिल – हवा अभिज्ञ – जानकार अविज्ञ – मूर्ख अलक – बाल अलिक – ललाट अश्व – घोङा अस्व – पराया/धन अश्म – पत्थर अयश – बदनामी अयस – लोहा आदि – प्रारम्भ आदी – आदत वाला आधि – मानसिक Read more…

पर्यायवाची शब्द

पर्यायवाची शब्द

दोस्तो आज हम पर्यायवाची शब्दो के बारे मे जानकारी ग्रहीत करेंगे पर्यायवाची शब्द जिन शब्दों के अर्थ में समानता होती है, उन्हें समानार्थक, समानार्थी या पर्यायवाची शब्द कहते हैं. *अ * अग्नि – आग, अनल, पावक. अपमान – अनादर, अवज्ञा, अवहेलना, तिरस्कार. अलंकार – आभूषण, गहना, जेवर. अहंकार – दंभ, Read more…

अव्यय के बारे मे जानें

अव्यय के बारे मे जानें

अव्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण दोस्तो आज हम आपके लिए नया विषय ले कर आए है आज हम जानेगे कि हिन्दी व्याकरण मे अव्यय क्या होता है आज आप अच्छे से अव्यय के बारे मे जान पाएंगे  अव्यय क्या होता है :- अव्यय का शाब्दिक अर्थ होता है – Read more…

हिन्दी मुहावरे

हिन्दी मुहावरे hindi muhavare

हिन्दी मुहावरे hindi muhavare मुहावरे तथा लोकोक्तियाँ मुहावरा:- मुहावरा बात कहने की एक शैली है। यह अरबी भाषा क ‘मुहावर’ शब्द से बना है, जिसका शाब्दिक अर्थ है- ‘अभ्यास करना’ या ‘बातचीत’ ‘लक्षणा व व्यंजना द्वारा वह सिद्ध वाक्य जो किसी बोली जाने वाली भाषा में प्रचलित हो कर रूढ़ Read more…

error: कॉपी करना मना है