Tag: सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय परिचय

प्रयोगवाद महत्त्वपूर्ण तथ्य

प्रयोगवाद महत्त्वपूर्ण तथ्य 🔷साम्यवाद व मार्क्सवाद दृष्टि से ओतप्रोत साहित्य धारा प्रगतिवाद के पश्चात हिंदी साहित्य में प्रयोगवाद का उदय हुआ । 🔷 छायावादोत्तर काल की वह काव्य धारा जिसमें काव्य के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग किए गए प्रयोगवाद के नाम से जानी जाती है । 🔷 सच्चिदानंद हीरानंद वात्सायन अज्ञेय को प्रयोगवाद का प्रवर्तक

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय परिचय

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय आइए दोस्तों हम आज जाने- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय जी की रचनाओं के बारे में अज्ञेय महान व्यक्तितव के धनी थे जन्म : 7 मार्च, 1911 कुशीनगर – मृत्यु : 4 अप्रैल, 1987 नई दिल्ली नाम- सच्चिदानंद वात्स्यायन जन्म- कुशीनगर (कसया) जिला देवरिया (उ.प्र.) में। बचपन का नाम – सच्चा ललित
error: कॉपी करना मना है