तार सप्तक ट्रिक्स

अज्ञेय के अनुसार “एक ही प्रकार की भाव- चेतना के तार में पिरोए सात कवियों की रचनाओं का संकलन तार सप्तक कहलाता है”
‘ तार सप्तक’ मूलतः प्रभाकर माचवे के दिमाग की उपज मानी जाती है, परंतु इसके प्रवर्तन का श्रेय अज्ञेय को प्रदान किया जाता है
अज्ञेय ने तार सप्तक के कवियों में के बारे में लिखा है “यह सातों कवि किसी एक स्कूल के नहीं है। वे राही नहीं अपितु राहों के अन्वेषी हैं”
हिंदी साहित्य जगत में अब तक चार तार सप्तकों की स्थापना हो चुकी है(1943,1951,1959,1979)

📚तार सप्तक📚
तार सप्तक -1943
तार सप्तक के जनक – अज्ञेय

तार सप्तक के कवि

ट्रिक: by संजय धौलपुरिया
*अमूने गिरा प्रभा*

अ – अज्ञेय
मु – मुक्तिबोध
ने – नेमी चन्द्र जैन
गि – गिरिजाकुमार माथुर
रा – रामविलास शर्मा
प्र- प्रभाकर माचवे
भा- भारतभूषण अग्रवाल

📚द्वितीय तार सप्तक📚
सन – 1951
जनक- अज्ञेय

द्वितीय तार सप्तक कर कवि

ट्रिक by: संजय धौलपुरिया

*धर्मवीर ओर शमशेर शंकुतला का हरण करके भागे*

धर्मवीर – धर्मवीर भारती
शमशेर ,- शमशेर बहादुर
शंकुतला -शंकुतला
ह – हरिनारायण व्यास
र – रघुवीर सहाय
न – नरेश मेहता
भगे – भवानी प्रसाद मिश्र

📚तृतीत तार सप्तक📚

सन – 1959
जनक – अज्ञेय

तृतीत तार सप्तक के कवि
ट्रिक by : संजय धौलपुरिया

*प्रयाग विजय में कीर्त्ति ने कुँवर सर से केदार के मन की बात कहि*

प्रयाग – प्रयाग नारायण त्रिपाठी
विजय – विजयदेव नारायण शाही
कीर्ति – कीर्ति चौधरी
कुँवर – कुँवर नारायण
सर- सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
केदार- केदारनाथ सिंह
मन – मदन वात्स्यायन

📚चतुर्थ तार सप्तक 📚
सन -1979
जनक – अज्ञेय

चतुर्थ तार सप्तक के कवि
ट्रिक by: संजय धौलपुरिया

*सुश्री राम ने स्वदेशी अवधेश को राजकुमार नन्दकिशोर से मिलायाे*

सु – सुमन राजे
श्री – श्रीराम वर्मा
स्वदेशी स्वदेश भारती
अवधेश- अवधेश कुमार
राजकुमार- राजकुमार कुम्भज
नन्द – नन्दकिशोर आचार्य
किशोर- राजेंद्र किशोर

विशेष:-
★तार सप्तकों में प्रथम महिला – शंकुतला माथुर(द्वितीय से)

★तार सप्तकों में कुल महिला – 3

★तारसप्तको में राजस्थान से – नन्दकिशोर आचार्य

★तार सप्तकों में पति -पत्नी –गिरिजाकुमार माथुर, शंकुतला माथुर।

संकलन ::🙏🏻 संजय धौलपुरिया

1 COMMENT

  1. सार्थक व ज्ञानवर्द्धक स॑कलन ! धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here