Category: हिंदी साहित्य

हिंदी साहित्यकार और उनके उपनाम

हिंदी साहित्यकार और उनके उपनाम प्रमुख रचनाकार उपनाम और उपाधियां ********** विद्यापति—- कविशेखर, दसावधान, कविकंठहार, पंचानन, अबिनव जयदेव ,मैथिल कोकिल ******* पुष्यदंत— हिंदी का भवभूति, भाखा की जड़, अभिमान मेरु, काव्यरत्नाकर,कविकुल तिलक ********* अब्दुल हसन—–अमीर खुसरो ********* स्वयंभू—- अपभ्रंश का वाल्मीकि तथा व्यास ******** धनपाल—-सरस्वती ******* हरिचन्द्र–भारतेन्दु,रसा ***** नंददास—गढ़िया और जड़िया कवि ****** हेमचन्द्र—– प्राकृत […]

भाषा अपभ्रंश,अवहट्ट और पुरानी हिंदी परिचय

भाषा अपभ्रंश,अवहट्ट एवं पुरानी हिंदी का परिचय प्रश्न 1.संदेश रासक किसकी रचना है? 1.दामोदर पंडित 2. रोडा 3.विद्यापति 4.अब्दुर्रहमान@ : प्रश्न 2.राउलवेल किसकी रचना है? 1.रोडा@ 2.विद्याधर 3.अब्दुल 4.ज्योतिरीश्वर ठाकुर : प्रश्न 3.राजा मुंज को पुरानी हिंदी का प्रथम कवि किसने माना है? 1.चन्द्रधर शर्मा गुलेरी@ 2.रामचंद्र शुक्ल जी 3.राहुल सांक्रत्यायन 3.हजारी प्रसाद द्विवेदी ने […]

आधुनिक काल के हिंदी साहित्यकार

19 वीं सदी में जन्में प्रमुख साहित्यकार ( जन्म के क्रम पर आधारित ) निम्न हैं – =================*==*===== 1. 1815-1881 – सेवक 2. 1826-1896 – राज लक्ष्मण सिंह 3. 1844-1914 – बालकृष्ण भट्ट 4. 1845-1884 – सरदार 5. 1850-1911 – सुधाकर द्विवेदी 6. 1850-1885 – भारतेंदु हरिश्चन्द्र 7. 1851-1887 – लाला श्रीनिवास दास 8. 1855-1923 […]

हिंदी भाषा और बोलियाँ प्रश्नोतर

हिंदी भाषा एवं बोलियाँ  ✍पश्चिमी हिंदी की कितनी बोलियां हैं ? पांच ✍पश्चिमी हिंदी की कौन-कौन सी बोलियां हैं ? खड़ी बोली या कौरवी, ब्रजभाषा, हरियाणी, बुंदेली और कन्नौजी । ✍पूर्व हिंदी की कितनी बोलियां हैं ? अवधी, बघेली और छत्तीसगढ़ी । ✍राजस्थानी हिंदी की कितनी बोलियां हैं ? मारवाड़ी, जयपुरी, मेवाती, मालवी । ✍पहाड़ी […]

हिंदी में व्यास सम्मान

📖📖व्यास सम्मान #स्थापना- 1991 में के. के. बिड़ला फाउंडेशन ने प्रारंभ किया था। -भारतीय साहित्य में किये गये योगदान के लिए दिया जाने वाला ज्ञानपीठ पुरस्कार के बाद दूसरा सबसे बड़ा साहित्य-सम्मान है। *पहला व्यास सम्मान वर्ष 1991 में रामविलास शर्मा की कृति ‘भारत के प्राचीन भाषा परिवार और हिन्दी’ के लिए ⚛ व्यास सम्मान […]

भारतेन्दु युग परिचय

भारतेन्दु काल या नवजागरण काल (1869 से 1900)– हिंदी साहित्य वीडियो के लिए यहाँ क्लिक करें हिंदी साहित्य के आधुनिक काल के संक्राति काल के दो पक्ष हैं। इस समय के दरम्यान एक और प्राचीन परिपाटी में काव्य रचना होती रही और दूसरी ओर सामाजिक राजनीतिक क्षेत्रों में जो सक्रियता बढ़ रही थी और परिस्थितियों […]

निबन्ध क्या है ?

निबन्ध के प्रकार- निबन्ध के तीन प्रकार है। भावात्मक, विचारात्मक , वर्णनात्मक। भावात्मक- भावात्मक निबंध में भाव की प्रधानता होती है। और विचारात्मक निबंध में विचार की, यहां प्रधानता शब्द ध्यान देने योग्य है।कोई भी निबंधकार केवल भाव या विचार के सहारे नहीं चलता, वह अपने साथ भाव और विचार दोनों को लेकर चलता है। […]

error: कॉपी करना मना है