Hindi sahitya Quiz-42 || भक्तिकाल || हिंदी साहित्य

आज के आर्टिकल में हम हिंदी साहित्य के इतिहास के अंतर्गत Hindi sahitya Quiz-42 को हल करेंगे ,यह प्रश्न आपकी किसी भी एग्जाम के लिए महत्त्वपूर्ण होंगे। इस आर्टिकल में अगर आपको लगे कि हमारी ओर से 100 % दिया गया है तो इस आर्टिकल को शेयर जरुर करें ।

 Hindi sahitya Quiz-42

1. किसने रामचन्द्रिका को ’फुटकर कवित्तों का संग्रह’ कहा है ?
(अ) रामस्वरूप चतुर्वेदी
(ब) पीताम्बर दत्त बङथ्वाल✔
(स) रामचंद्र शुक्ल
(द) गणपतिचन्द्र गुप्त

2. ’भक्तमाल’ के संबंध में इन कथनों पर विचार करें-
(क) इसमें 200 भक्तों के चरित 316 कवित्तों में वर्णित हैं।
(ख) प्रियादास ने ’रससुबोधिनी’ नाम से इसकी टीका लिखी है।
कौन-सा कथन सही नहीं हैं ?
(अ) केवल क (ब) केवल ख
(स) क व ख दोनों ✔(द) न क न ख

3. रामचरितमानस के संबंध में इन कथनों पर विचार करें-
(क) इसमें कुल 1500 कङवक हैं।
(ख) सुंदरकाण्ड को इसका हृदयस्थल कहा जाता है।
(ग) शुक्लजी ने ’चित्रकूट सभा’ प्रसंग को आध्यात्मिक घटना कहा है।
(घ) किष्किंधाकाण्ड की रचना काशी में हुई।
कौन-सा कथन सही हैं ?
(अ) केवल क
(ब) केवल ग व घ✔
(स) केवल ख
(द) केवल क व घ

4. तुलसीदास के विषय में निम्न कथनों पर विचार कीजिये-
(क) शिवसिंह सेंगर ने इनका जन्म स्थान सोरों में माना है।
(ख) शुक्ल जी ने इनकी मृत्यु से संबंधित पंक्ति ’श्रावण शुक्ला सप्तमी, तुलसी तज्यौ शरीर, को सही नहीं माना।
(ग) तुलसी व रत्नावली के प्रसंग का उल्लेख प्रियादास की ’भक्तमाल’ टीका में नहीं मिलाया।
(घ) ग्रियर्सन ने इनका जन्म संवत् 1589 में माना।
कौन-सा कथन सही नहीं है ?
कूटः
(अ) केवल क व ग✔ (ब) केवल क व ख
(स) केवल ग व घ (द) केवल घ

5. कवियों को उनकी कृतियों से सुमेलित कीजिये-
सूची-। सूची-।।
(क) रज्जब 1. असरारे-मार्फत
(ख) बाबा लाल 2. अष्टपदी जोग-ग्रंथ
(ग) अक्षर अनन्य 3. राजयोग
(घ) हरिदास निरंजनी 4. सब्बंगी
कूट:
क ख ग घ
(अ) 1 2 3 4
(ब) 4 1 2 3
(स) 4 1 3 2✔
(द) 1 4 2 3

6. ’मलूकदास’ के विषय में निम्न कथनों पर विचार करें-
(क) उन्होंने ’सुखसागर’ में विट्ठल को अपना गुरु माना।
(ख) इन्होंने सगुण ब्रह्म की आराधना की है।
(ग) इन्होंने खङी-बोली में भी रचना की है।
(घ) इनकी भाषा में अरबी-फारसी के शब्द बहुत कम मिलते हैं।
कौन-सा कथन सही है ?
(अ) केवल क व घ (ब) केवल ख व ग✔
(स) केवल क व ग (द) केवल ख व घ

7. इनमें से कौन-सा कथन सही नहीं है ?
(अ) साही ने पद्मावत को ’त्रासदी’ कहा है।
(ब) ’आखिरी कलाम’ में बाबर की प्रशंसा है।
(स) पद्मावत में अन्योक्ति व समासोक्ति दोनों तत्त्व हैं।
(द) शुक्ल जी ने पद्मावत की प्रेम पद्धति को भारतीय माना है।✔

8. निम्न कथनों पर विचार कीजिए –
(क) ’अर्द्धकथानक’ में ’मृगावती’ व ’मधुमालती’ का जिक्र मिलता है।
(ख) उर्दू की रचना ’गुलशने इश्क’ ’पद्मावत’ को आधार बनाकर लिखी गई।
(ग) जान कवि ने सर्वाधिक मात्रा में प्रेम काव्य लिखे।
(घ) दामोदर कवि ने अपनी रचना ’लखनसेन पद्मावती कथा’ को ’वीर कथा’ कहा है।
इनमें से कौन-से कथन सही हैं ?
(अ) केवल क व ख (ब) केवल क, ग व घ✔
(स) केवल ग व घ (द) केवल क व ग

9. आचार्य रामचन्द्र शुक्ल ने जायसी की किस रचना को जायसी-ग्रंथावली में स्थान दिया है ?
(क) पद्मावत
(ख) कहरनामा
(ग) कन्हावत
(घ) मसलनामा
सही कूट का चयन कीजिये-
(अ) केवल क
(ब) केवल ग और घ
(स) केवल क और ख
(द) केवल क✔

10. शुक्लजी ने अग्रदास की कविता की तुलना किस कवि से की है ?
(अ) सुंदरदास (ब) सूरदास
(स) नन्ददास ✔(द) ईश्वरदास

11. ’साधो संप्रदाय’ के विषय में निम्न कथनों पर विचार कीजिये-
(क) इसकी स्थापना उदयदास ने की थी।
(ख) राजस्थान में इसका मुख्य प्रभाव था।
(ग) इसकी स्थापना संवत् 1615 में हुई थी।
नीचे दिए गए कूट के माध्यम से बताइए कि इनमें से कौन-सा कथन सही नहीं है ?
(अ) केवल ग
(ब) केवल क व ग दोनों
(स) केवल क
(द) क, ख व ग✔

12. उक्ति चोज अनुप्रास बरन अस्थिति अति भारी।
बचन प्रीति निर्वाह अर्थ अद्भुत तुकधारी।
प्रतिबिंबित दिवि दिष्टि, हृदय हरिलीला भाजी।
जनम करम गुन रूप सबै रसना परकासी
इन पंक्तियों के विषय में निम्न कथनों  पर विचार कीजिये-
(क) यह पंक्तियाँ ’दो सौ वैष्णवन की वार्ता’ से उद्धृत हैं।
(ख) ये पंक्तियाँ सूरदास के विषय में कही गई हैं।
इनमें से कौन-सा कथन सही नहीं है –
(अ) केवल क✔ (ब) केवल ख
(स) क व ख दोनों (द) न क न ख

13. साहित्य-लहरी के विषय में कुछ कथन निम्न हैं –
(क) ब्रजेश्वर वर्मा ने इसे प्रामाणिक माना है।
(ख) सूर की केवल इसी रचना में दृष्टिकूट पद मिलते हैं।
(ग) इसमें ’गुरु परसाद होत यह दरसन सरसठ बरस प्रवीन’ नामक पंक्ति में सूरदास  ने अपनी आयु बताई है।
(घ) इस ग्रंथ में सूरदास  ने अपनी वंश परंपरा दी है।
इनमें से कौन-सा कथन सही है ?
(अ) केवल क और ग
(ब) केवल ख और ग
(स) केवल घ✔
(द) केवल क

14. हितहरिवंश के विषय में इन कथनों पर विचार कीजिये-
(क) इनके राधासुधानिधि नामक ब्रज भाषा के ग्रंथ राधावल्लभ संप्रदायों के सिद्धांतों का विशद वर्णन है।
(ख) अपनी रचना की मधुरता के कारण ये कृष्ण की वंशी के अवतार कहे जाते हैं।
(ग) हरिराम व्यास ने इनकी मृत्यु पर बहुत विह्वल करने वाले पद लिखे थे।
(घ) चतुर्भुजदास ने इनके ग्रंथ हित चैरासी की टीका लिखी।
इनमें से कौन-सा कथन सही नहीं है ?
(अ) केवल क व घ ✔(ब) केवल ख व ग
(स) केवल क व ख (द) केवल ग

15. मीरा के विषय में इन कथनों पर विचार कीजिये-
(क) उनकी प्रेम-साधना में स्वकीया भाव है।
(ख) उनकी प्रेम-साधना में सामान्य मानवीय मर्यादा है।
(ग) उनकी भक्ति माधुर्य-भाव की है।
(घ) उन्होंने कृष्ण का स्मरण गिरिधर नागर के रूप में किया है।
इनमें से कौन-से कथन सही है-
(अ) क व ख (ब) ख व ग
(स) क, ख व ग (द) सभी कथन सही हैं✔

16. यह पंक्ति किस कवि की है –
कहन स्याम संदेस एक मैं तुम पै आयो।
(अ) परमानंददास (ब) छीतस्वामी
(स) नंददास✔ (द) गोविंदस्वामी

17. ’’तोरि मानिनी तें हियो फोरि मोहिनी मान।
प्रेमदेव की छवि ही लखि भए मियाँ रसखान।।’’
आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार उपर्युक्त दोहे से प्रमाणित होता है कि –
(क) रसखान किसी स्त्री पर आसक्त थे।
(ख) स्त्री मानवती थी और रसखान का अनादर करती थी।
(ग) रसखान स्वयं को प्रेम का मानदंड मानते थे।
(घ) रसखान को भास हुआ कि जिस पर गोपियाँ मरती हैं उसी पर ध्यान लगाया जाए।
(ङ) रसखान मोहिनी का मान-मर्दन करना चाहते थे।
निम्नलिखित विकल्पों में से सही उत्तर चुनिये-
(अ) क, ख और ग (ब) क, ख और घ✔
(स) ख, ग, और ङ (द) ख, ग, घ और ङ

18. ’’भक्ति के आंदोलन की जो लहर दक्षिण से आई उसी ने उत्तर भारत की परिस्थिति के अनुरूप हिंदू-मुसलमान दोनों के लिये एक सामान्य भक्ति मार्ग की भी भावना कुछ लोगों में जगाई।’’
उक्त कथन किसका है ?
(अ) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ब) रामचन्द्र शुक्ल✔
(स) विजयदेव नारायण ’साही’
(द) नन्ददुलारे वाजपेयी

19. ’’कबीर के ’निर्गुण पंथ’ का आधार भारतीय वेदांत और ’सूफियों का प्रेम तत्त्व है।’’ यह विचार किसका है?
(अ) रामचन्द्र शुक्ल
(ब) राहुल सांकृत्यायन
(स) हजारीप्रसाद द्विवेदी✔
(द) गोविंद त्रिगुणायत

20. सुमेलित कीजिये-
पंक्ति रचनाकार
(क) ओनई घटा, परी जग छाहाँ 1. सूरदास
(ख) आवत जात पनहियाँ टूटी 2. कुम्भनदास
(ग) अति मलीन वृषभानु कुमारी 3. तुलसीदास
(घ) कीरति भनिति भूतिभिल सोई 4. जायसी
5. कबीरदास
कूट:
क ख ग घ
(अ) 1 3 4 5
(ब) 1 5 3 4
(स) 2 5 4 3
(द) 4 2 1 3✔

21. विट्ठलनाथ ने वल्लभ संप्रदाय में किस प्रकार की पूजा-पद्धति का समावेश किया ?
(अ) बालकृष्ण की उपासना
(ब) युगलोपासना✔
(स) राधा-स्तुति
(द) कान्ताभाव की उपासना

22. ’’जायसी के शृंगार में मानसिक पक्ष प्रधान है, शारीरिक गौण है।’’ यह कथन किस आलोचक का है ?
(अ) रामचन्द्र शुक्ल✔
(ब) विजयदेव नारायण ’साही’
(स) रामपूजन तिवारी
(द) श्याम मनोहर पाण्डेय
23. ’सुजान कुमार’ किस सूफी प्रेमाख्यान का नायक है?
(अ) मधुमालती (ब) चित्रावली✔
(स) इंद्रावती (द) हंस-जवाहिर

24. ’’धर्म का प्रवाह कर्म, ज्ञान और भक्ति, इन तीन धाराओं में चलता है। इन तीनों के सामंजस्य से धर्म-अपनी पूर्ण संजीव दशा में रहा है। किसी एक के भी अभाव से वह विकलांग रहता है।’’ यह कथन किस आलोचक का है ?
(अ) रामचन्द्र शुक्ल✔
(ब) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(स) राहुल सांकृत्यायन
(द) रामविलास शर्मा

25. ’रौजतुल हकायक’ के रचयिता हैं –
(अ) शेख नबी (ब) कासिम शाह
(स) नूर मोहम्मद✔ (द) उसमान

26. गौङीय संप्रदाय में संस्थापक है –
(अ) हरिदास निरंजनी
(ब) लालदास
(स) हितहरिवंश
(द) चैतन्य महाप्रभु✔

27. स्वामी अग्रदास का संबंध किस भक्ति शाखा से है?
(अ) ज्ञानमार्गी (ब) प्रेममार्गी
(स) रामभक्ति✔ (द) कृष्ण भक्ति

28. ’’कहा करौं बैकुंठहि जाय ?
जहँ नहिं नन्द, जहाँ न जसोदा, नहिं जँह गोपी ग्वाल न गाय।’’
उपर्युक्त काव्य पंक्तियाँ किसकी हैं ?
(अ) सूरदास
(ब) परमानन्ददास✔
(स) नन्ददास
(द) रसखान

29. ’’जो नर दुःख नहिं मानै।
सुख सनेह अरु भय नहिं जाके, कंचन माटी जानै।’’
इन काव्य पंक्तियों के रचनाकार हैं –
(अ) सूरदास (ब) गुरु नानक✔
(स) कबीरदास (द) रैदास

यह भी पढ़ें:-

दोस्तो अगर हमारी ये quiz हिंदी मित्रों के लिए फायदेमंद लगे तो शेयर जरूर करें 

किसी भी प्रश्न के उत्तर में अगर गलती लगे तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें ,आपका सहयोग अपेक्षित रहेगा |

Hindi sahitya Quiz-1

⋅Hindi sahitya Quiz-2

Hindi Sahitya Quiz-3

⋅Hindi sahitya Quiz-4

Hindi Sahitya Quiz-5

⋅Hindi Sahitya Quiz-6

Hindi Sahitya Quiz-7

·Hindi Sahitya Quiz-8

Hindi Sahitya Quiz-9

महत्त्वपूर्ण लिंक

🔷सूक्ष्म शिक्षण विधि    🔷 पत्र लेखन      🔷कारक 

🔹क्रिया    🔷प्रेमचंद कहानी सम्पूर्ण पीडीऍफ़    🔷प्रयोजना विधि 

🔷 सुमित्रानंदन जीवन परिचय    🔷मनोविज्ञान सिद्धांत

🔹रस के भेद  🔷हिंदी साहित्य पीडीऍफ़  🔷 समास(हिंदी व्याकरण) 

🔷शिक्षण कौशल  🔷लिंग (हिंदी व्याकरण)🔷  हिंदी मुहावरे 

🔹सूर्यकांत त्रिपाठी निराला  🔷कबीर जीवन परिचय  🔷हिंदी व्याकरण पीडीऍफ़    🔷 महादेवी वर्मा

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *