अमृतलाल नागर जीवन परिचय

दोस्तों आज की पोस्ट में हम हिंदी के सुप्रसिद्ध लेखक अमृतलाल नागर जी के बारे में जानेंगे

अमृत लाल नागर जीवन परिचय(amrt laal naagar jeevan parichay)

 

अमृतलाल नागर जी का जन्म 17 अगस्त 1916 ई को गोकुलपुरा, आगरा में एक गुजराती ब्राह्मण परिवार में हुआ।

आपके पिता का नाम राजाराम नागर था। आपके पितामह पं. शिवराम नागर 1895 से लखनऊ आकर बस गए थे। आपकी पढ़ाई हाईस्कूल तक ही हुई।

फिर स्वाध्याय द्वारा साहित्य, इतिहास, पुराण, पुरातत्व व समाजशास्त्र का अध्ययन किया। बाद में हिंदी, गुजराती, मराठी, बंगला, अंग्रेजी पर अधिकार रखा। पहले नौकरी करते रहे, फिर स्वतंत्र लेखन, फिल्म लेखन काम शुरू किया।

नागर जी आकाशवाणी, लखनऊ में ड्रामा प्रोड्यूसर भी रहें।

आइए अब हम इनकी रचनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं

रचनाएँ

उपन्यास :

  • महाकाल से ‘भूख’ शीर्षक प्रकाशित)
  • बूँद और समुद्र
  • शतरंज के मोहरे
  • सुहाग के नुपूर 
  • अमृत और विष
  • सात घूँघट वाला मुखड़ा,
  • एकदा नैमिषारण्ये 
  • मानस का हंस 
  • नाच्यौ बहुत गोपाल
  • खंजन नयन 
  • अग्निगर्भा 
  • करवट
  • पीढ़ियाँ

 

कहानी संग्रह :

  • वाटिका 
  • अवशेष 
  • तुलाराम शास्त्री
  • आदमी, नही! नही! 
  • पाँचवा दस्ता
  • एक दिल हजार दास्ताँ 
  • एटम बम 
  • पीपल की परी
  • कालदंड की चोरी
  • मेरी प्रिय कहानियाँ
  • पाँचवा दस्ता और सात कहानियाँ 
  • भारत पुत्र नौरंगीलाल 
  • सिकंदर हार गया
  • एक दिल हजार अफसाने

नाटक :

  • युगावतार (1956)
  • बात की बात (1974)
  • चंदन वन (1974)
  • चक्कसरदार सीढ़ियाँ और अँधेरा (1977)
  •  उतार चढ़ाव (1977)
  • नुक्कड़ पर (1981)
  • चढ़त न दूजो रंग (1982)

इसके अलावा व्यंग्य, बाल साहित्य लेखन के साथ अनुवाद कार्य भी किया है।

सन 1953 से 1956 तक आकाशवाणी लखनऊ में ड्रामा प्रोड्यूसर रहें।

अज्ञेय जीवन परिचय देखें 

विद्यापति जीवन परिचय  देखें 

रामनरेश त्रिपाठी जीवन परिचय  देखें 

महावीर प्रसाद द्विवेदी  जीवन परिचय देखें 

डॉ. नगेन्द्र  जीवन परिचय देखें 

भारतेन्दु जीवन परिचय देखें 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *