Application in Hindi – प्रार्थना पत्र कैसे लिखें

आज के आर्टिकल में हम अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र (Application in Hindi) कैसे लिखें ,और प्रार्थना पत्र(Prarthna Patra in Hindi) के फॉर्मेट के बारे में जानेंगे।

प्रार्थना पत्र कैसे लिखें (Application in Hindi)

प्रार्थना पत्र का अर्थ है- अनुरोध पत्र। जब हम किसी विभाग के अधिकारी को पत्र के द्वारा अनुरोध करते हैं तो उस पत्र को प्रार्थना पत्र(Prarthna Patra in Hindi) कहते है। इसे आवेदन पत्र भी कहते है।

प्रार्थना पत्र

शुल्क मुक्ति (फीस माफ) के लिए प्रार्थना पत्र (Prarthna Patra in Hindi)

सेवा में,
प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
सूरतगढ़।

विषयः शुल्क मुक्ति हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 12 का गरीब छात्र हूँ। मेरे पिताजी का निधन गत वर्ष हो गया। घर में और कोई कमाने वाला नहीं है। मेरी माताजी ही मजदूरी कर घर का खर्च चलाती है। हम पाँच भाई बहिन है। अतः मेरी माताजी विद्यालय का शुल्क जमा कराने में असमर्थ है।
कक्षा 10 में मैंने बोर्ड परीक्षा में विद्यालय में सर्वोच्च अंक प्राप्त किए है। इस वर्ष विद्यालय की क्रिकेट टीम का जिला स्तर पर मैंने नेतृत्व किया तथा टीम विजेता रही।
अतः मेरी आर्थिक स्थिति को देखते हुए आप मेरा शुल्क माफ करने का कष्ट करेंगे अन्यथा मुझे अपना अध्ययन रोकना पड़ेगा। आशा है, मेरा शुल्क माफ कर मुझे पढ़ने का अवसर प्रदान करेंगे।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
सुमित
कक्षा 12 क
दिनांक: 17 जनवरी, 2021

पुस्तकों के लिए प्रधानाध्यापक को पत्र (Prarthna Patra in Hindi)

सेवा में,
श्री प्रधानाचार्य जी,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
करणपुर।

विषय: पुस्तकों के लिए।

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 12 का छात्र हूँ। मेरे पिताजी की मासिक आय बहुत कम है। घर में हम चार भाई बहिन है। घर का साधारण खर्च भी बड़ी कठिनाई से चलता है। इस वजह से मेरे पिताजी मुझे पुस्तकें दिलाने में असमर्थ है।
अतः आप मेरी स्थिति को देखते हुए मुझे पुस्तकें दिलाने की व्यवस्था कर दें, अन्यथा पुस्तकें न होने की वजह से मैं अपना अध्ययन कार्य सुचारु रूप से नहीं चला पाऊँगा। मैं अपनी कक्षा में हमेशा प्रथम या द्वितीय रहता हूँ। कृपा के लिए मैं हमेशा आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
गौरव
कक्षा 12 क
दिनांक 17 जनवरी, 2021

अवकाश आवेदन हेतु पत्र (Chutti ke Liye Application in Hindi)

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
हनुमानगढ़।

विषयः एक दिन के अवकाश हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 10 का विद्यार्थी हूँ। मुझे आज सुबह से बहुत तेज बुखार है क्योंकि मैं कल घर जाते समय बारिश में भीग गया था। इसलिए मैं आज स्कूल आने में असमर्थ हूँ।
अतः आप मुझे एक दिन का अवकाश प्रदान करें। आपकी अति कृपा होगी।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
राहुल
कक्षा 10 क

खेलकूद प्रतियोगिता करनवाने हेतु पत्र

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
कोटा।

विषय: विद्यालय में 5 दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता करवाने हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि हम आपके विद्यालय के कक्षा-11 के विद्यार्थी है। हम हमारे विद्यालय में 5 दिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित करवाना चाहते है। इसके लिए हमने फंड भी इकट्ठा किया है।
अतः आपसे निवेदन है कि आप हमें इस टूर्नामेंट के लिए स्वीकृति प्रदान करें। आपकी अति कृपा होगी।

भवदीय
राहुल
(क्लास हैड)

ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए(Application for Transfer Certificate in Hindi)

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
श्रीगंगानगर।

विषय: ट्रांसफर सर्टिफिकेट हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय के कक्षा 10 का छात्र हूँ। मेरे पिताजी का स्थानान्तरण श्रीगंगानगर से बीकानेर हो गया है। मेरा पूरा परिवार मेरे पिताजी के साथ बीकानेर का जा रहा है और मुझे भी उनके साथ जाना होगा। इस वजह से मैं अपनी आगे की पढ़ाई इस विद्यालय से जारी रखने में असमर्थ हूँ और दूसरे विद्यालय में एडमिशन के लिए मुझे मेरे ट्रांसफर सर्टिफिकेट (TC) की आवश्यकता है।
अतः आप मुझे ट्रांसफर सर्टिफिकेट देने की कृपा करें। मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
रोहित
कक्षा 10 क
दिनांक: 17 जनवरी, 2021

हिंदी पत्र लेखन

पत्रकारिता लेखन के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

बेहतरीन मोटिवेशनल सुविचार पढ़ें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *