Hindi literature question quiz 6 || भक्तिकाल || कृष्णकाव्य धारा || Hindi sahitya

दोस्तो आज आप हिंदी साहित्य में भक्तिकाल(कृष्ण काव्यधारा)विषय पर Hindi literature question quiz 6 से अपना मुल्यांकन करें ,इनके उत्तर नीचे दिए गए है |

Hindi literature question quiz 6

हिन्दी साहित्य मिशन
प्रश्न संख्या: 50      टेस्ट – 6 कृष्णकाव्य धारा (भक्तिकाल)          पूर्णांक: 100
1. ’मोरपखा सिर ऊपर राखिहौं गुंज की माल गरे पहिरौंगी’’ यह पंक्ति किस कवि की हैं ?
(अ) देव (ब) रसखान
(स) पद्माकर (द) ग्वाल कवि
2. मीराबाई की भक्ति किस प्रकार की हैं ?
(अ) दास्य भाव (ब) सख्य भाव
(स) माधुर्य भाव (द) पुष्टि भाव
3. अष्टछाप की स्थापना का श्रेय किस आचार्य को हैं ?
(अ) वल्लभाचार्य (ब) विट्ठलनाथ
(स) हित हरिवंश (द) रूप गोस्वामी
4. नन्ददास की किस कृति पर मुग्ध होकर उन्हें ’जङिया’ उपाधि दी गई हैं ?
(अ) रासपंचाध्यायी (ब) अनेकार्थ मंजरी
(स) भंवरगीत (द) पदावली
5. ध्रुवदास किस सम्प्रदाय के कवि हैं ?
(अ) बल्लभ सम्प्रदाय (ब) निम्बार्क सम्प्रदाय
(स) राधाबल्लभ सम्प्रदाय (द) चैतन्य सम्प्रदाय
6. ’’इन मुसलमान हरिजनन पै कोटिन हिन्दू वारिए’’ भारतेन्दु जी ने यह पंक्ति किस कवि के लिए कही हैं ?
(अ) रहीम (ब) रसखान
(स) मुल्ला दाउद (द) जायसी
7. रसखान के दीक्षा गुरु कौन थे  ?
(अ) गोस्वामी विट्ठलनाथ (ब) बल्लभाचार्य
(स) मध्वाचार्य (द) स्वामी हरिदास
8. किस सम्प्रदाय में गद्दी सेवा का विधान हैं ?
(अ) वल्लभ सम्प्रदाय (ब) सखी सम्प्रदाय
(स) राधावल्लभ सम्प्रदाय (द) गौङीय सम्प्रदाय
9. ’’संतन कौ कहा सीकरी सों काम’’ यह प्रसिद्ध पंक्ति किसकी हैं ?
(अ) सूरदास (ब) कुंभनदास
(स) परमानन्ददास (द) नन्ददास
10. इनमें से कौन गोस्वामी विट्ठलनाथ का शिष्य नहीं था ?
(अ) सूरदास (ब) छीतस्वामी
(स) गोविन्द स्वामी (द) नन्ददास

Hindi literature question quiz 6

11. श्रीमद्भागवत पुराण में इनमें से किसका उल्लेख नहीं हैं ?
(अ) कृष्ण (ब) राधा
(स) गोपी (द) ग्वाल
12. गदाधर भट्ट किस सम्प्रदाय के कवि हैं ?
(अ) चैतन्य सम्प्रदाय (ब) सखी सम्प्रदाय
(स) बल्लभ सम्प्रदाय      (द) राधाबल्लभ सम्प्रदाय
13. कृष्ण भक्ति के लिए परिवार जन की प्रताङना किसने सहन की ?
(अ) रसखान (ब) नन्ददास
(स) मीराबाई (द) सहजोबाई
14. संख्या की दृष्टि से सर्वाधिक रचनाएँ कृष्णभक्त कवियों में किसकी हैं ?
(अ) नन्ददास (ब) ध्रुवदास
(स) सूरदास (द) मीराबाई
15. सूरदास ने कृष्ण के किस रूप का चित्रण किया हैं?
(अ) लोकरक्षक (ब) लोकरंजक
(स) योगेश्वर (द) परमब्रह्म
16. सर्वाधिक तर्कशील गोपियाँ किस कवि की हैं ?
(अ) सूरदास (ब) नन्ददास
(स) रत्नाकर (द) कविरत्न
17. ’साहित्य लहरी’ की विषय वस्तु क्या हैं ?
(अ) नायिका भेद (ब) छन्द शास्त्र
(स) पर्यायकोश (द) रस
18. ब्रह्मासूत्रों  का ’अणुभाष्य’ किस आचार्य ने लिखा हैं?
(अ) शंकराचार्य (ब) मध्वाचार्य
(स) वल्लभाचार्य (द) निम्बार्क
19. रसखान की किस रचना में राधा-कृष्ण को मालिन-माली मानकर प्रेमोद्यान का वर्णन करते हुए, प्रेम के गूढ़ तत्व का सूक्ष्म विवेचन किया गया है ?
(अ) सुजानरसखान (ब) प्रेमवाटिका
(स) दानलीला (द) अष्टछाप
20. कौन-सी रचना नन्ददास की नहीं हैं ?
(अ) अनेकार्थ मंजरी (ब) रास पंचाध्यायी
(स) गोवर्धन लीला (द) प्रेमवाटिका

हिंदी साहित्य quiz  1 

21. वृन्दावन में मीरा की भेंट किस कृष्णभक्त से हुई ?
(अ) रूप गोस्वामी (ब) जीव गोस्वामी
(स) वल्लभाचार्य (द) विट्ठलनाथ
22. युगलशतक किस सम्प्रदाय से सम्बन्धित हैं ?
(अ) हरिदासी सम्प्रदाय (ब) निम्बार्क सम्प्रदाय
(स) बल्लभ सम्प्रदाय (द) चैतन्य सम्प्रदाय
23. इनमें से कौन कवि जन्मकाल के अनुसार सबसे पहले क्रम पर होना चाहिए ?
(अ) नन्ददास (ब) कुंभनदास
(स) श्रीभट्ट (द) छीतस्वामी
24. ’’आगे होने वाले कवियांे की शृंगार और वात्सल्य की उक्तियाँ सूर की जूठी सी जान पङती हैं’’ यह कथन किसका हैं ?
(अ) हजारीप्रसाद द्विवेदी (ब) विजयेन्द्र स्नातक
(स) डाॅ. नगेन्द्र (द) आचार्य शुक्ल
25. निम्नलिखित सूचियों को सुमेलित कीजिए –
(अ) भ्रमरगीत 1. सत्यनारायण कविरत्न
(ब) भंवरगीत 2. सूरदास
(स) भ्रमरदूत 3. जगन्नाथदास रत्नाकर
(द) उद्धवशतक 4. नन्ददास
        (अ) (ब) (स) (द)
(अ)     3   4   2    1
(ब)     2   4   1    3
(स)    2   1    3    4
(द)    4   3    2    1
26. निम्नलिखित सूचियों को सुमेलित कीजिए –
कवि का नाम जीवनकाल
(अ) सूरदास 1. 1533-1618 ई.
(ब) नन्ददास 2. 1504-1563 ई.
(स) मीरा 3. 1533-1583 ई.
(द) रसखान 4. 1478-1583 ई.
      (अ) (ब) (स)  (द)
(अ)   4   3    2     1
(ब)   3    4   2     1
(स)   2    4   1     3
(द)   3    2    4    1
27. अष्टसखाओं के लीलात्मक स्वरूप आदि का विस्तापूर्वक उल्लेख किस ग्रंथ में मिलता हैं ?
(अ) रसप्रकाश (ब) भावप्रकाश
(स) भक्तनामावली (द) भक्तमाल
28. ’पूर्व मीमांसा भाष्य’ के रचनाकार हैं ?
(अ) वल्लभाचार्य (ब) जैमिनी
(स) पतंजलि (द) कणाद
29. वल्लभाचार्य के संपर्क में आने से पूर्व सूर किस भाव की भक्ति करते थें ?
(अ) सख्यभाव (ब) माधुर्य भाव
(स) वात्सल्य भाव (द) दास्य भाव
30. भ्रमरगीत का मुख्य आधार क्या रहा हैं ?
(अ) द्वादश स्कंध (ब) गीता
(स) भागवत का दशम स्कंध (द) उपनिषद
31. ’’शृंगार और वात्सल्य के क्षेत्र में जहाँ तक इनकी दृष्टि पहुँची वहाँ तक किसी कवि की नहीं। इन दोनों क्षेत्रों में तो इस महाकवि ने मानो औरों के लिए कुछ छोङा ही नहीं।’’ किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) हजारीप्रसाद द्विवेदी (ब) धीरेन्द्र वर्मा
(स) डाॅ. नगेन्द्र (द) आचार्य शुक्ल
32. ’’ताही छन उडराज उदित रस-रास-सहायक। कुंकम मंडित वदन प्रिया जनु नागरि नायक’’ किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) सूरदास (ब) नन्ददास
(स) रसखान (द) मीराबाई
33. ’’मो मन गिरिधन छवि पै अटक्यो
    ललित त्रिभंग चाल पै चालि कै, चिबुक चारू गाङि
    ठरक्यो’’ किसकी पंक्ति हैं ?
(अ) कृष्णदास (ब) सूरदास
(स) मीरा (द) परमानंददास
34. ’’कहा करौ बैकुंठहि जाय
    जहँ नहिं नंद, जहाँ न जसोदा, नहिं जहँ गोपी
    ग्वाल न गाय।’’ किस कवि की पंक्तियाँ हैं ?
(अ) कुंभनदास (ब) परमानंददास
(स) नन्ददास (द) सूरदास
35. ’हितजू को मंगल’ किसकी रचना हैं ?
(अ) कृष्णदास (ब) सूरदास
(स) चतुर्भुजदास (द) नंददास
36. ’’स्वस्ति श्री तुलसी कुलभूषण दूषन हरन गोसाँई बारहिं बार प्रनाम करहुँ, अब हरहु सोक समुदाई’’-किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) तुलसीदास (ब) भूषण
(स) मीराबाई (द) रसखान
37. ’’मन रे परसि हरि के चरन
  सुभग सीतल कमल कोमल त्रिविधि ज्वाला हरन।’’
– किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) सूरदास (ब) रसखान
(स) मीराबाई (द) नंददास
38. ’भक्तिरसामृत-सिंधु’ काव्य किसकी रचना हैं ?
(अ) छीतस्वामी (ब) रूपगोस्वामी
(स) गोविंद स्वामी (द) नंददास
39. ’’सोभित कर नवनीत लिए,
   घुटुरुन चलत रेनु तन मंडित, मुख दधि लेप किए।’’
किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) मीराबाई (ब) रसखान
(स) परमानंददास (द) सूरदास
40. ’’जब ते प्रीति श्याम ते कीनी
    ता दिन ते मेरे इन नैननि नेकहुँ नींद न लीनी।’’
– किसकी पंक्तियाँ हैं ?
(अ) नन्ददास (ब) सूरदास
(स) परमानन्ददास (द) कुंभनदास
41. किस कृष्ण भक्त कवि ने कृष्ण का लीलागान गेयपदों में न कर सवैयों में किया ?
(अ) मीराबाई (ब) सूरदास
(स) कृष्णदास (द) रसखान
42. निम्न में से कौनसा कृष्णोपासक भक्त आचार्य अपने समय का महान् संगीतज्ञ भी था ?
(अ) रामानंद (ब) स्वामी हरिदास
(स) चैतन्य महाप्रभु (द) हरिदास निरंजनी
43. ’’ब्रह्म माया से सर्वथा अलिप्त अर्थात शुद्ध है’’ यह मूल स्थापना है निम्नलिखित दार्शनिक सिद्धान्तों में से-
(अ) विशिष्टाद्वैत (ब) द्वैताद्वैत
(स) भेदाभेद (द) शुद्धाद्वैत
44. पुष्टिमार्गीय भक्ति सम्प्रदाय को किस नाम से जाना जाता हैं –
(अ) पुष्ट छाप (ब) अष्टछाप
(स) वल्लभ सम्प्रदाय (द) विट्ठल सम्प्रदाय
45. अष्टछाप के आठ शिष्यों में से श्री वल्लभाचार्य के चार शिष्यांे के सम्बन्ध में कौन-सा विकल्प सही हैं ?
(अ) गोविन्द स्वामी, नंददास, छीतस्वामी, चतुर्भुजदास
(ब) कुंभनदास, सूरदास, परमानन्ददास, कृष्णदास
(स) हित हरिवंश, दामोदर दास, हरिराम व्यास, चतुर्भुजदास
(द) धु्रवदास, नंददास, जगन्नाथ स्वामी, कृष्णदास
46. ’दृष्टकूट’ पदों का वण्र्य-विषय है –
(अ) लौकिक जीवन से दृष्टान्त देकर बात को सिद्ध करना
(ब) अष्टछाप के दार्शनिक सिद्धान्तों का वर्णन
(स) कूटनीतिज्ञ जीवन दर्शन का प्रतिपादन
(द) राधा कृष्ण की लीलाओं का अर्थगोपन-शैली में वर्णन
47. मुगल शासक अकबर अष्टछाप के किस भक्त कवि के पदांे पर मुग्ध हो गया था ?
(अ) सूरदास (ब) कुंभनदास
(स) कृष्णदास (द) छीतस्वामी
48. ’परमानन्द सागर’ किसकी रचना हैं ?
(अ) कृष्णदास (ब) ध्रुवदास
(स) चतुर्भुजदास (द) परमानंद दास
49. नंददास विरचित कौन-सा ग्रंथ शब्दांे के पर्यायवाची के संग्रह के साथ-साथ शृंगारिक भावाभिव्यक्ति की भी श्रेष्ठता का उदाहरण हैं ?
(अ) अनेकार्थ मंजरी (ब) अमरकोश
(स) रसमंजरी (द) मानमंजरी
50. अष्टछाप के कवि छीतस्वामी अष्टछाप में दीक्षित हुए विट्ठलनाथ जी के-
(अ) निमंत्रित करने पर
(ब) चमत्कारी व्यक्तित्व के कारण
(स) द्वारा फटकारे जाने पर
(द) आत्मग्लानि होने पर
उत्तरमाला
टेस्ट – 6 कृष्णकाव्य धारा (भक्तिकाल)
उत्तरमाला हिन्दी साहित्य चैनल उत्तरमाला
1 ब          26 अ
2 स          27 ब
3 ब          28 अ
4 अ          29 द
5 स           30 स
6 ब            31 द
7 अ            32 ब
8 स            33 अ
9 ब            34 ब
10 अ          35 स
11 ब           36 स
12 अ          37 स
13 स          38 ब
14 ब          39 द
15 ब          40 स
16 ब          41 द
17 अ         42 ब
18 स         43 अ
19 ब          44 स
20 द          45 ब
21 ब          46 द
22 ब          47 ब
23 ब          48 द
24 द          49 द
25 ब          50 ब
अगर हमारी कोशिस अच्छी लगे तो पोस्ट को शेयर जरुर करें 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *