🌟🌟 छायावाद युग के महत्वपूर्ण प्रश्न 🌟🌟

🌟पन्त जी की प्रथम कविता कोनसी है ?

गिरजे का घंटा ☑️☑️☑️ 1916
कला व बुढा चाँद
द्रुत झरो
स्वर्ण धूलि

छायावाद के ब्रह्मा  , विष्णु , महेश क्रमशः है ?

प्रसाद  , पन्त , निराला ☑️☑️☑️
पन्त , निराला , पसाद
निराला , पसाद , पन्त
पसाद , निराला , पन्त

🌟 “छायावाद स्थूल के प्रति सूक्ष्म का विद्रोह है।” कथन किस आलोचक का है —

आचार्य रामचंद्र शुक्ल
नंददुलारे वाजपेई
रामकुमार वर्मा
नगेंद्र ☑️☑️☑️

🌟छायावाद को मधुचर्या किस आलोचक ने कहा —

हजारी प्रसाद द्विवेदी
आचार्य रामचंद्र शुक्ल☑️☑️☑️
नंददुलारे वाजपेई
रामकुमार वर्मा

🌟 छायावाद का सीमांकन माना जाता है

1918- 1936 ☑️☑️☑️
1920-1940
1915- 1930
1900- 1936

🌟जूही की कली किसकी काव्य रचना है ?

जयशंकर प्रसाद
महादेवी वर्मा
सूर्यकांत त्रिपाठी निराला☑️☑️☑️
पंत

🌟 जूही की कली का प्रकाशन वर्ष है

1918
1916 ☑️☑️☑️
1920
1935

● छायावाद के जाने-माने चार स्तंभ में निम्न में से कौन नहीं है
माखनलाल चतुर्वेदी ☑️☑️☑️
महादेवी वर्मा
निराला
प्रसाद

🌟 छायावाद को छायावाद नाम किसने दिया

जयशंकर प्रसाद
मुकुटधर पांडेय √√
महादेवी वर्मा
पंत

🌟 वन का महत्व ,प्रकृति -पर्यवेक्षण, प्रेम का स्वच्छंद भंगिमाओं में चित्रण ,कथा गीत का प्रयोग तथा काव्य भाषा में खड़ी बोली की स्वीकृति किस युग की विशेषताएं हैं ?

आदिकाल
रीतिकाल
भारतेंदु युग
छायावाद☑️☑️☑️

🌟 सरलता असलियत और जोश के कवि माने जाते हैं ?

महावीर प्रसाद द्विवेदी ☑️☑️☑️
जयशंकर प्रसाद
महादेवी वर्मा
पंत

🌟 यथार्थवाद और छायावाद निबंध के रचयिता है

जयशंकर प्रसाद ☑️☑️☑️
निराला
महादेवी वर्मा
बालकृष्ण शर्मा

🌟 छायावादी काव्यधारा के समानांतर कौनसी काव्यधारा चलती रही ?

राष्ट्रीय सांस्कृतिक ☑️☑️☑️
प्रयोगवादी
अकविता
उत्तर आधुनिक

🌟 एक भारतीय आत्मा किस कवि का उपनाम है ?

सुभद्रा कुमारी चौहान
माखनलाल चतुर्वेदी ☑️☑️☑️
उदय शंकर भट्ट
दिनकर

🌟 बालकृष्ण शर्मा नवीन का कविता संग्रह है ?
क्वासि
अपलक
कुमकुम ☑️☑️☑️
हम विषपाई जनम

🌟 छायावाद के छाया शब्द को मोती के भीतर छाया जैसी तरलता किसने कहा ?

जयशंकर प्रसाद ☑️☑️☑️
रामकुमार वर्मा
पंत
महादेवी वर्मा

🌟 मैं कृतार्थ देह , तृणों लघु दोने में
तुम मेरी आत्मा का पावक करती धारण”

ये किसकी कविता की पंक्तियाँ है ?

जयशंकर प्रसाद
सुमित्रानंदन पंत ☑️☑️☑️
महादेवी वर्मा
निराला

🌟 छायावाद की पहली काव्य रचना मानी जाती है ?

कामायनी
तुलसीदास
पंचवटी
झरना ☑️☑️☑️

🌟 छोड़ दृमो की मृदु छाया
तोड़ प्रकृति से मोह माया
बाले ! तेरे बाल जाल में कैसे उलझा दूं लोचन ?
भूल अभी से इस जग को ।” यह पंक्तियां किस की है ?

निराला
बालकृष्ण शर्मा नवीन
पंत ☑️☑️☑️
महादेवी वर्मा

🌟 छायावाद स्थूल के प्रति सूक्ष्म का विद्रोह नहीं रहा वरन् थोथी नैतिकता, रूढ़िवाद और सामंती साम्राज्यवादी बंधनों के प्रति विद्रोह रहा है । ” यह कथन किसने कहा ?

नंददुलारे वाजपेई
रामविलास शर्मा ☑️☑️☑️
डॉक्टर नागेंद्र
प्रसाद

🌟 मुकुटधर पांडे का छायावाद शीर्षक निबंध सर्व प्रथम किस पत्रिका में प्रकाशित हुआ ?

सरस्वती
श्री शारदा ☑️☑️☑️
हितवाणी
माधुरी

#छाया भारतीय दृष्टि से अनुभूति और अभिव्यक्ति की भंगिमा पर अधिक निर्भर करती है ।” छायावाद के संबंध में उक्त पंक्तियां किसकी है?

रामचंद्र शुक्ल
जयशंकर प्रसाद ☑️☑️☑️
महादेवी वर्मा
नगेंद्र

🌟 छायावाद काव्य ना रहकर केवल अलंकृत संगीत बन गया था।” किसने कहा था ?

रामकुमार वर्मा
पंत ☑️☑️☑️
प्रसाद
निराला

🌟छायावाद युग का पर्वतक किसे माना जाता है ?

रामकुमार वर्मा
पंत
प्रसाद ☑️☑️☑️
निराला

🌟खड़ी बोली हिन्दी साहित्य का स्वर्ण युग आधुनिक काल का कोनसा युग कहलाता है ?

दिवेदी युग
छायावाद युग ☑️☑️☑️
प्रगतिवाद युग
प्रयोगवाद युग

🌟 छायावाद का पतन ” कृति के लेखक है ?

डॉ रामविलास
डॉ नामवर सिंह
डॉ देवराज ☑️☑️☑️
डॉ रामकुमार वर्मा

🌟 आधुनिक युग की कौनसी काव्य धारा ” दो विश्व युद्धों के बीच की घटना कहलाती है ?

दिवेदी युग
छायावाद युग ☑️☑️☑️
प्रगतिवाद युग
प्रयोगवाद युग

🌟 ‘छायावाद ‘के लेखक है ?

डॉ रामविलास
डॉ नामवर सिंह ☑️☑️☑️
डॉ देवराज
डॉ रामकुमार वर्मा

🌟 छायावाद के वृह्द्त्री में कौन शामिल नही है ?

प्रसाद
पन्त
निराला
महादेवी ☑️☑️☑️

🌟 छायावाद के लघुत्रयी में कौन शामिल नही है ?

महादेवी वर्मा
डॉ रामकुमार वर्मा
भगवती चरण वर्मा
माखनलाल चतुर्वेदी ☑️☑️☑️

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here