आदिकाल विशेष ट्रिक हिंदी साहित्य

कण्हपा के गुरु–जालंधरपा
कुक्कुरिपा के गुरु-चर्पटिया
शबरपा के गुरु-सरहपा
लुइपा के गुरु-शबरपा
डोम्बिपा के गुरु-विरूपा
***
इसका मिलान करने वाला प्रश्न आ सकता है इसे नोट कर लेवें

विशेष imp
आदिकाल में रासो परंपरा में विजयपाल रासो एवं हमीर रासो अपभ्रंश की रचनाएं हैं

अपभ्रंश साहित्य के प्रमुख कवि क्रमानुसार
👇👇
जो~~जोइन्दु
स्वयं~~स्वयम्भू
पुष्प~~पुष्पदंत
धन~~धनपाल
राम~~रामसिंह
हे~~हेमचन्द्र
अबे~~~अब्दुल रहमान
******
ट्रिक
*जो* *स्वयं *पुष्प रूपी धन की वर्षा करे राम है अबे
******
*हिंदी साहित्य चैनल*

सिद्ध साहित्य में 2 प्रश्न महत्वपूर्ण है
1. 84 सिद्धों में सबसे ऊंचा स्थान किनका माना जाता है ?
उत्तर-लुइपा
2. सिद्धो में सबसे ज्यादा विद्वान किसे माना जाता है जिन्होंने सबसे ज्यादा 74 ग्रंथ लिखे
उत्तर-कण्हपा
******
अब याद भी कर लो
👇👇
लुइपा में पहला अक्षर *ल* मतलब जो सबसे लंबा होगा वो ऊंचा ही होगा(ल-से लुइपा)😄
👇👇
और जिसे क. ख का ज्यादा ज्ञान होगा वो विद्वान ही होगा(क.. से कण्हपा)

*हिंदी साहित्य चैनल*

*जलन्धर,चर्पट और नागार्जुन*
ये तीनों सिद्धों में भी आते है और नाथों में भी
****
ट्रिक
अब याद करें
इनका तीनों का उद्देश्य था कि सिद्ध और नाथ दोनों में *जचना* (मतलब फिट बैठना)
ज-जलन्धर
च-चर्पट
ना-नागार्जुन
*******
*हिंदी साहित्य चैनल*

कृष्णकाव्य धारा और रामकाव्य धारा प्रश्नोतरी

आदिकाल विशेष ट्रिक हिंदी साहित्य

*रामकुमार वर्मा का काल विभाजन*

संधिकाल (750 सं-1000)
चारण काल (1000 सं-1375)
भक्तिकाल (1375 सं-1700)
रीतिकाल (1700 सं-1900)
आधुनिक काल (1900 सं- से अब तक)
********
ट्रिक:: *सच भरी आ*
सभी कालों का पहला-पहला अक्षर देखें
**************
*हिंदी साहित्य चैनल*

प्रश्न ये उठा कि गणपति(पति) चन्द्र ने प्रारम्भिक काल कब से माना
बस *पति* को याद रखो अपने आप याद होगा
उत्तर::1184
ट्रिक —*हर एक(मतलब एक एक) पति पर चौरासी का चक्र है*
एक एक चौरासी~~~1184 ईस्वी
*हिंदी साहित्य चैनल*

आचार्य शुक्ल ने 12 पुस्तकों के आधार पर वीरगाथा काल का नामकरण किया
साहित्यिक पुस्तकें केवल चार मानी हैं और देश भाषा काव्य की 8 पुस्तकें मानी है

साहित्यिक पुस्तकें चार जो निम्नलिखित है
1*विजयपाल रासो
2. हमीर रासो
3.कीर्तिलता
4.कीर्तिपताका
************
देश भाषा काव्य की 8 पुस्तकें निम्नलिखित मानी है
1.खुमान रासो
2.बीसलदेव रासो
3.पृथ्वीराज रासो
4. जय चंद्रप्रकाश
5.जय मयंक जसचंद्रिका
6.परमाल रासो
7.खुसरो की पहेलियां
8.विद्यापति पदावली
**********
इसमें आपको चार साहित्यिक पुस्तकों का जरूर ध्यान रखना है उसको निम्न ट्रिक से याद करें
ट्रिक:::
*कीर्ति कीर्ति है विजय*
************

*हिंदी साहित्य चैनल*

हिंदी साहित्य का काल विभाजन निम्न प्रकार से शुरुआत मानते है

मिश्रबन्धु—643 ईस्वी से
रामकुमार वर्मा–693 ईस्वी
शुक्ल–993 ईस्वी
गणपति चन्द्र गुप्त–1184 ईस्वी
गणपति की आप को ट्रिक बताई जा चुकी है
बाकी ऊपर 43,93,93 का ध्यान रखें
एग्जाम में कालविभाजन शुरुआत की जानकारी ही पूछी जाती है

1.नेमिनाथ चउपई में पहली बार
बारहमासा का वर्णन मिलता है।
2.हिन्दी में पहली बार बारहमासा बीसलदेव रासो में मिलता है।
3.हिन्दी में पहली बार व्यापक ढंग का बारहमासा पृथ्वीराजरासो में मिलता है।
4.हिन्दी में पहली बार मार्मिक एंव व्यापक ढंग का बारहमासा पद्मावत में मिलता है।

**हिंदी साहित्य चैनल*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here